कानपुर रेल हादसा, गिरफ्तार ISI एजेंट शमशुल होदा ने दी थी 'सुपारी'

कानपुर ट्रेन एक्‍सीडेंट: गिरफ्तार ISI एजेंट शमशुल होदा ने हादसे की दी थी ‘सुपारी’

पटना: पाकिस्तान खुफिया एजेंसी आइएसआइ के साथ मिलकर भारत में विध्वंसात्मक कार्रवाई की साजिश करनेवाले समशुल होदा को नेपाल की राजधानी काठमांडू में नेपाल पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस बीच भारतीय सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों के भी नेपाल पहुंचने की सूचना है। बताया गया है कि राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआइए) की टीम के अलावा आइबी व रॉ के भी अधिकारी वहां पहले से मौजूद हैं। बताया गया है कि दुबई में रहकर आइएसआइ की गतिविधि संचालित करनेवाले नेपाल के कलेया निवासी समशुल होदा को नेपाल भारतीय जांच एजेंसियों के दबाव में ही दुबई से डिपोर्ट किया गया था। कानपुर रेल हादसे में 150 लोगों की मौत हो गई थी.

दो दिनों तक पूछताछ के बाद शमसुल होदा को कलैया ले जाया गया है, जहां उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू की जाएगी. काठमांडू में एनआईए और नेपाल पुलिस की स्पेशल ब्यूरो ने पूछताछ की थी. बारा जिले के एसपी नरेंद्र उप्रेती ने शमसुल को काठमांडू से कलैया ले जाने की पुष्टि कर दी है. गौरतलब है कि भारतीय एजेंसी को कानपुर रेल हादसे में साजिश के अहम सबूत मिले थे.

उल्‍लेखनीय है कि नेपाल से गिरफ्तार ब्रिज किशोर गिरि के फोन से एक ऑडियो क्लिप मिला था. ऑडियो क्लिप में कानपुर रेल हादसे की साजिश की बातचीत है. नेपाल पुलिस ने एनआईए समेत तमाम जांच एजेंसियों को ऑडियो क्लिप सौंप दिए हैं. एनआईए ने हाल में तीन एफआईआर दर्ज की हैं. गिरफ्तार शमसुल होदा अभी नेपाल पुलिस की गिरफ्त में है. गौरतलब है कि होदा को त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से गिरफ्तार कर लिया गया. कानुपर हादसा गत वर्ष नवंबर माह में हुआ था. नेपाल पुलिस के एक विशेष दल ने शमशुल होदा को तीन अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया है.

पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) पशुपति उपाध्याय ने बताया कि हुडा को कल त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से हिरासत में लिया गया. उन्होंने कहा, ”हमें जानकारी थी कि गत वर्ष कानपुर में हुए एक रेल हादसे में होदा वांछित है. इस हादसे में 150 लोगों की मौत हो गई थी.” उपाध्याय ने कहा,”भारत में आपराधिक गतिविधियों में होदा की कथित संलिप्तता के मामले में भी नेपाल पुलिस भारत की पुलिस के साथ करीबी समन्वय के साथ काम करेगी.”

गिरफ्तार तीन अन्य लोगों की पहचान बृज किशोर गिरि, आशीष सिंह और उमेश कुमार कुर्मी के रूप में हुई है. ये सभी दक्षिणी नेपाल के कलैया जिले के रहने वाले हैं. डीआईजी उपाध्याय ने बताया कि इंटरपोल के सहयोग से पुलिस होदा और अन्य तीन आरोपी अपराधियों को दुबई से नेपाल लाई.

पुलिस ने बताया कि होदा नेपाल के बारा जिले में दोहरे हत्याकांड के एक मामले का भी मास्टरमाइंड है. उपाध्याय ने बताया कि होदा के अंतरराष्ट्रीय आपराधिक संगठनों से संबंध है और वह नेपाल तथा भारत में कई आपराधिक गतिविधियों में शामिल रहा है. उन्होंने बताया कि उसके खिलाफ बारा की जिला अदालत में पहले से ही एक मामला दर्ज है. गौरतलब है कि बिहार पुलिस ने जनवरी में तीन लोगों को गिरफ्तार कर दावा किया था कि वे भारतीय रेलवे को निशाना बनाने के लिए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए काम कर रहे थे. इसके बाद इस दुर्घटना में आईएसआई की भूमिका की भी जांच की जा रही है. बिहार पुलिस के अनुसार इन तीनों आरोपियों को होदा से जुड़े एक व्यक्ति ने तीन लाख रूपये दिये थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...